Hindi Stories

Most Romantic Heart Touching Love Story In Hindi 2024

Most Romantic Heart Touching Love Story In Hindi | सच्ची प्रेम कहानी – दोस्तों आज की लव स्टोरी आप (Romantic Heart Touching Love Story In Hindi) सभी के लिए बहुत खास होने वाली है। अगर आपने भी कभी जीवन में प्यार किया है तो इस लव स्टोरी को पढ़कर आपकी आंखों में आंसू आ जाएंगे। उम्मीद करता हूं कि यह लव (Romantic Heart Touching Love Story In Hindi) स्टोरी आपको बहुत पसंद आएगी तो चलिए पढ़ना शुरू करते हैं।

Most Romantic Heart Touching Love Story In Hindi | सच्ची प्रेम कहानी –

उस समय बरसात का मौसम था। मैंने सुबह उठकर देखा कि बहुत तेज बरसात हो रही है और मुझे इंटरव्यू के लिए जाना था। मैंने अपने पापा की कार मांगी ताकि इंटरव्यू देने जा सकूं। मैं घर से जल्दी तैयार होकर अपने पापा की कार विटारा ब्रेजा को लेकर जा रहा था। आगे चलकर चौराहे पर मुझे एक लड़की दिखाई देती है जो काफी भीग चुकी थी। मैंने उसकी ओर देखा तो वह मुझसे गाड़ी रोकने का इशारा कर रही थी। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

मैंने अपनी कार को रोका और उसे से पूछा तो उसने बताया कि वह ऑफिस के लिए जा रही हैं लेकिन बरसात की वजह से काफी देर हो चुकी है। बहुत तेज बारिश होने की वजह से आसपास ऑटो भी नहीं दिखाई दे रहा था। मैंने उस लड़की को अपनी कार में बैठने के लिए कहा तो वह आगे वाली सीट पर आकर बैठ गई। उस लड़की ने मुझसे थैंक यू कहा। थोड़ी देर बाद मैंने उस लड़की से पूछा कि आपको कौन सी जगह पर जाना है। उसने जवाब दिया तब मुझे पता चला कि वह भी उस ऑफिस में जा रही है, जहां पर मैं जा रहा था।

हम दोनों कार में बैठकर बातचीत करते हुए जा रहे थे। तभी मैंने पूछा – आपका नाम क्या है?

उस लड़की ने जवाब दिया – मेरा नाम काव्या है और उसने मुझसे पूछा आपका नाम क्या है तो मैंने जवाब दिया मेरा नाम सचिन है। काव्या ने मुझसे पूछा – मैंने कभी आपको ऑफिस में काम करते हुए नहीं देखा है। मैंने जवाब दिया – आज मैं इंटरव्यू के लिए जा रहा हूं। थोड़ी ही देर में मैं और काव्या कंपनी के ऑफिस पहुंच जाते हैं। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

वह लड़की मेरी गाड़ी से उतर कर सीधे अपने केबिन में चली जाती है और मैं एक हॉल में जाकर बैठ जाता हूं। लगभग आधे घंटे बाद मेरा नाम पुकारा जाता है। मैं वहां से उठकर जैसे ही इंटरव्यू लेने वाले कमरे में जाता हूं तो देखता सामने वाली कुर्सी पर काव्य बैठी हुई थी। मैं तुरंत समझ चुका था कि इंटरव्यू लेने वाली काव्या ही है। सबसे पहले काव्या ने मुझसे मेरा नाम पूछा तो मैंने अपना नाम सचिन बताया।

उसके बाद उसने मुझसे कई सवाल पूछे जिनका मैंने आसानी से जवाब दे दिया। इंटरव्यू खत्म होने के बाद मैं अपने घर चला गया। लगभग एक सप्ताह बाद मुझे उस कंपनी की तरफ से एक ईमेल आया जिसमें लिखा हुआ था कि मैं कंपनी में जॉब करने के पात्र हूं। इसके अलावा मुझसे मेरे डॉक्यूमेंट कंपनी में सबमिट करने के लिए कहा गया था। अगले दिन मैं अपनी डॉक्यूमेंट फाइल लेकर उस कंपनी के ऑफिस पहुंच जाता हूं और अपने डॉक्यूमेंट सबमिट कर देता हूं।

उसके बाद मैं रोजाना सुबह 10:00 बजे ऑफिस आता था और शाम को 5:00 बजे वापस घर जाता था। इस प्रकार मुझे लगभग कंपनी में जॉब करते हुए 6 महीने पूरे हो चुके थे। इधर एक ही कंपनी में जॉब करने की वजह से काव्या और मैं बहुत अच्छे दोस्त बन चुके थे लेकिन काव्या कंपनी के पद में मेरी सीनियर थी। काव्या ने मुझसे मेरे मोबाइल नंबर लिए थे ताकि कोई भी काम हो तो वह मुझे कॉल कर सके।

अच्छे दोस्त होने के बावजूद भी काव्या मुझे ‘मैडम’ कहने पर मजबूर कर देती थी। उसके बाद मैंने भी सोच लिया था कि मैं अच्छी मेहनत करके एक दिन काव्या के मैनेजर पद से भी ऊपर वाला पद ले कर दिखाऊंगा। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

हमारी कंपनी में हर महीने में एक मीटिंग होती थी जिसमें मैं भाग लेता था। उस मीटिंग में हर व्यक्ति को अपनी बात रखने की इजाजत होती थी। कई बार मीटिंग में जाने के बाद मैंने सोचा कि अबकी बार होने वाली मीटिंग में मैं कुछ नया करके दिखाऊंगा। मीटिंग की तारीख आने से पहले ही में एक प्रोजेक्ट तैयार करने लग गया। महीने की 15 तारीख को कंपनी की मीटिंग रखी गई थी। उस दिन मैं भी अपना प्रोजेक्ट लेकर पहुंच जाता हूं।

सभी लोगों ने अपने अपने प्रोजेक्ट दिखाएं। कुछ देर बाद मैं भी खड़ा होकर सामने पहुंच जाता हूं और प्रोजेक्ट दिखाने लगता हूं। मैंने प्रोजेक्ट के बारे में बताना शुरू किया और लगभग 20 मिनट में मैंने सब कुछ बताया। उसके बाद मेरे सीनियर अधिकारियों ने तालियों से मेरा स्वागत किया क्योंकि मेरे इस प्रोजेक्ट से कंपनी को काफी मुनाफा होने वाला था। उस दिन मीटिंग में मेरे और काव्या के ही प्रोजेक्ट को सेलेक्ट किया गया था। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

कुछ दिनों बाद मुझे और काव्या को कंपनी की ओर से मुंबई जाना था। हमारा पूरा खर्चा कंपनी ही दे रही थी। मुंबई जाने वाली ट्रेन के स्लीपर कोच की 2 टिकटें बुक की गई थी। मुंबई जाने वाले दिन मैं रेलवे स्टेशन पर काव्या का इंतजार कर रहा था। बहुत देर इंतजार करने के बाद भी वह नहीं आई तो मैंने उसे कॉल करके पूछा तो उसने जवाब दिया कि वह कुछ ही देर में रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाली है।

थोड़ी ही देर बाद काव्या स्टेशन पर पहुंच जाती हैं। जैसे ही मैंने काव्या की ओर देखा तो देखता ही रह गया सच कहूं तो मैंने आज से पहले कभी उसे इतनी सजी-धजी नहीं देखा था। नीले रंग का जींस और लाल रंग का सूट पहने हुए वह बहुत खूबसूरत लग रही थी। उसको देख कर मुझसे रहा नहीं गया और मैंने कहा – आज तो तुम बहुत खूबसूरत लग रही हो। मुझे लगता है कि तुम्हारी देरी का कारण इतना सजना-संवरना ही हो। काव्या ने जवाब – पहले भी मैं इतनी ही खूबसूरत थी लेकिन आपने कभी इतने गौर से देखा नहीं था। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

हम दोनों स्टेशन पर खड़े होकर बातचीत कर रही थी कि थोड़ी देर में हमारी ट्रेन आ जाती है। मैं और काव्या स्लीपर कोच में अपनी-अपनी सीट पर बैठ जाते हैं। सीट पर बैठे हुए एक दूसरे को देख रहे थे और मंद-मंद मुस्कुरा रहे थे। मैं काव्या को प्रपोज करने की सोच रहा था क्योंकि मुझे अंदर से ऐसे महसूस हो रहा था कि मैं काव्या से प्यार करने लग गया हूं। फिर मैंने सोचा कि मुंबई वाली मीटिंग पूरी होने के बाद काव्या को प्रपोज करूंगा।

उसके बाद हम दोनों मुंबई पहुंच जाते हैं और वहां पर रुकने के लिए कंपनी ने हमारे लिए होटल में दो कमरे बुक किए थे। हम स्टेशन से ऑटो पकड़ कर होटल पहुंच जाते हैं। शाम को खाना खाने के बाद मैं फोन पर अपने घर वालों से बात कर रहा था। तभी काव्या मुझे बार-बार फोन कर रही थी। थोड़ी देर अपनी मां से बात करने के बाद में कॉल डिस्कनेक्ट कर देता हूं। काव्या ने मुझे कई बार कॉल किया था इसलिए मैंने उससे कॉल करके पूछा तो उसने बताया कि मुझे नींद नहीं आ रही है। इसलिए तुमसे बात करने के लिए तुम्हारे पास कॉल कर रही थी। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

मैंने कहा – मैं काफी थक चुका हूं, इसलिए मुझे नींद आ रही है। तुम भी सो जाओ। सुबह हम दोनों को मीटिंग के लिए जाना है। इतना कहकर मैं कॉल डिस्कनेक्ट करके सो जाता हूं। कुछ देर बाद मेरे कमरे के दरवाजे का बेल बजाने की आवाज सुनाई देती है। जैसे ही मैं दरवाजा खोल कर देखता हूं कि काव्या खड़ी हुई थी। मैंने उसे अंदर आने के लिए कहा। उसके बाद उसने मुझसे पूछा – तुमने मेरा कॉल डिस्कनेक्ट क्यों किया था?

मैंने कहा – ट्रेन का सफर लंबा होने की वजह से मैं काफी थक चुका हूं इसलिए तुम्हारा कॉल डिस्कनेक्ट किया था।

कॉल डिस्कनेक्ट करने की बात को लेकर काव्या मुझसे नाराज हो गई। उस समय मानो मुझे ऐसे लग रहा था कि वह भी मुझसे प्यार करती हो। मैंने उस मौके का फायदा उठाया और काव्या को प्रपोज कर दिया। मैंने कहा – काव्या! मैं तुम्हें बहुत प्यार करता हूं और मुझे लगता है कि तुम भी मुझसे प्यार करती हो। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

मेरी इस बात को सुनकर काव्या ने कोई भी जवाब नहीं दिया। मैं वहां से उठकर चुपचाप बेड पर जाकर सो गया।

कुछ देर बाद काव्या ने कहा – मुझे अकेले में डर लगता है इसलिए मैं तुम्हारे पास ही रहूंगी।

मैंने कहा – कोई बात नहीं तुम मेरे बेड पर सो जाओ। मैं नीचे बिस्तर लगा कर सो जाता हूं।

तभी काव्या ने जवाब दिया – सचिन! तुमने काफी देर कर दी, अब मैं किसी और को पसंद करने लगी हूं। उस लड़के का नाम विराज है और वह भी मुझसे बहुत प्यार करता है।

काव्या की बात को सुनकर मुझे झटका सा लगा क्योंकि मैं बहुत दिनों से काव्या से प्यार करता था लेकिन कह नहीं पाया। मैंने काव्या से कहा – क्या वह लड़का मुझसे भी अधिक तुमसे प्यार करता है।

इस पर काव्या ने जवाब दिया – हां, विराज मुझे अपनी जान से भी अधिक प्यार करता है और कुछ दिनों में हम दोनों शादी करना चाहते हैं।

मैंने कहा – कोई बात नहीं, मैंने ही काफी देर लगा दी।

अगले दिन हम दोनों जल्दी तैयार होकर मीटिंग के लिए रवाना हो जाते हैं। मीटिंग में मैंने अपने प्रोजेक्ट को सीनियर अधिकारियों के सामने रखा और उन्हें इसके बारे में सब कुछ बताया। मेरे प्रोजेक्ट को समझने के बाद सीनियर अधिकारियों ने मुझसे कहा Well Done, इस तरह मेहनत करते रहोगे तो बहुत आगे तक जाओगे। मैंने कहा – थैंक यू सर। कुछ देर कंपनी के प्रोजेक्ट के बारे में बातचीत करने के बाद हमारे मीटिंग खत्म हो जाती हैं। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

Romantic Heart Touching Love Story In Hindi
Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

मैं और काव्या वहां से होटल पहुंच जाते हैं और दोनों अपने अपने कमरे में चले जाते हैं। कुछ देर बाद मैं अपना सामान बैग में भरकर वापस घर आने के लिए तैयार हो जाता हूं। मैं होटल के नीचे आकर काव्या को कॉल करके कहता हूं कि अगर तुम तैयार हो गई हो तो नीचे आ जाना मैं तुम्हारा इंतजार कर रहा हूं। तभी काव्या ने कहा – कुछ मिनट रुको मैं अपना सामान पैक कर रही हूं।

थोड़ी देर बाद काव्या भी मेरे पास आ जाती हैं। इसके बाद हम दोनों वापस अपने घर आ जाते हैं। अगले दिन मैं ऑफिस गया था पता चला कि मेरा प्रमोशन हो गया है और मुझे मैनेजर का पद मिल गया है। मेरे सभी दोस्त मुझसे काव्या के बारे में पूछते रहते थे क्योंकि सभी ऐसा सोचते थे कि काव्या और मैं एक दूसरे को पसंद करते हैं। रोजाना मैं उनके सवालों से परेशान हो चुका था। काव्या के मना करने के बाद मैंने कंपनी छोड़ने का फैसला लिया क्योंकि मैंने आज तक काव्या के अलावा किसी भी लड़की को पसंद नहीं किया था। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

मुझे अपने आप से नफरत सी होने लग गई थी क्योंकि मैं उस कंपनी में कभी भी काम नहीं करना चाहता था। जिस में काम करने वाली लड़की ने मुझसे प्यार करने के लिए मना कर दिया था। मेरे कंपनी छोड़ने की बात का पता मेरे दोस्तों को चल गया था। उन्होंने काव्या को समझाया कि सचिन हकीकत में तुमसे बहुत प्यार करता है और अगर तुमने उसका प्यार नहीं अपनाया तो वह कंपनी छोड़ कर चला जाएगा। लेकिन काव्या ने मेरे दोस्तों को भला बुरा कहा और धक्के मारकर अपने केबिन से निकाल दिया।

उसके बाद मैंने सोच लिया था कि जिस कंपनी में काव्या रहेगी उसमें कभी भी काम नहीं करूंगा। अगले दिन मैंने अपना इस्तीफा पत्र काव्या के केबिन में पहुंचा दिया। काव्या ने मुझसे कंपनी छोड़ने का कारण पूछा तो मैंने कहा – इस इस्तीफे पत्र में सब कुछ लिखा हुआ है। इसके अलावा मुझे किसी भी प्रकार की जानकारी देने की कोई जरूरत नहीं है। इतना कहने के बाद मैं बाहर से निकल गया। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

कुछ दिनों बाद मुझे एक दूसरी कंपनी से जॉब का ऑफर मिला। मैंने उस कंपनी में काम करना शुरू कर दिया। अच्छा टैलेंट होने की वजह से मुझे सीधा मैनेजर का पद मिला था। एक दिन मैं अपने मकान की छत पर टहल रहा था। तभी काव्या मुझे कॉल करती है और रोने लगती है। मैंने रोने का कारण पूछा तब उसने कहा – विराज ने मुझे धोखा दिया है, वह मुझे केवल पैसों के लिए प्यार करता था।

काव्या के रोने की आवाज मुझे उसकी ओर खींच रही थी।

मैं छत से नीचे आकर बाइक स्टार्ट कर लेता हूं लेकिन पिछली बातों को याद करके वापस उठ जाता हूं और काव्या को कॉल करके कहता हूं – कोई बात नहीं, इस तरह के हालात हर इंसान की जिंदगी में आते हैं। तुम्हें अपने आप को संभालना होगा।

काव्या – सचिन! मैं तुमसे बहुत प्यार करती हूं। मुझे माफ कर देना, मैं पहले तुम्हारा प्यार नहीं समझ सकी। तुम मुझ पर विश्वास करो, मैं हमेशा तुम्हारे साथ रहूंगी।

काफी देर बातचीत करने के बाद मैं काव्या से कहता हूं प्लीज काव्या! मुझे माफ कर देना मैं तुम्हारे पास नहीं आ सकता हूं। मैं किसी और लड़की को पसंद करता हूं और वह भी मुझसे बहुत प्यार करती है। उस लड़की का नाम श्रुति है। कुछ दिनों में हम दोनों शादी करने वाले हैं और मैं नहीं चाहता कि तुम्हारी वजह से हम दोनों के बीच झगड़ा हो। इतना कहने के बाद मैं कॉल डिस्कनेक्ट कर देता हूं। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

आपको बता दूं कि मेरी और श्रुति की मुलाकात एक रेस्टोरेंट में हुई थी। कंपनी से इस्तीफा देने के बाद मैं काफी परेशान हो गया था। मुझे हमेशा काव्या की बातें याद आ रही थी। एक दिन मैं रेस्टोरेंट में बैठकर कॉफी पी रहा था। तभी देखता हूं कि मेरे सामने वाली टेबल पर चार-पांच लड़कियां बैठी हुई थी। उनमें से एक लड़की जिसका नाम श्रुति था। वह तिरछी निगाहों से मेरी ओर देखकर मंद-मंद मुस्कुरा रही थी। मैं भी सबसे निगाहें चुरा कर उस लड़की को देख रहा था।

थोड़ी देर बाद वह लड़की मेरे साथ ज्वाइन होने के लिए मेरी सामने वाली कुर्सी पर आकर बैठ जाती है और मुझसे बातें करने लगती है। काफी देर बातचीत करने के बाद वह मुझसे मोबाइल नंबर लेकर चली जाती है। उसके बाद हम दोनों काफी देर तक फोन पर ही बातचीत किया करते थे। धीरे-धीरे मैं और श्रुति अच्छे दोस्त बन गए। रात को काफी देर तक व्हाट्सएप पर रोमांटिक बातें करते रहते थे। Romantic Heart Touching Love Story In Hindi

धीरे-धीरे हम दोनों की मुलाकात बढ़ने लगी और एक दिन श्रुति ने मुझे प्रपोज कर दिया। मैंने भी श्रुति के प्यार को स्वीकार कर लिया और उसको अपने गले से लगा लिया। एक दिन मैंने सोचा कि श्रुति को मैं काव्या के बारे में भी सब कुछ बता दूंगा। मैं और श्रुति रेस्टोरेंट में बैठकर बातचीत करते हुए कॉफी पी रहे थे। उस दिन वह काफी रोमांटिक लग रही थी। मैंने श्रुति को काव्या के बारे में सब कुछ बता दिया।

उसके बाद उसने मुझसे कहा – बहुत अच्छा हुआ। नहीं तो मुझे तुम्हारा प्यार कभी नहीं मिल पाता। कुछ ही दिनों बाद हम दोनों ने अपने-अपने परिवार वालों को भी हमारे प्यार के बारे में सब कुछ बता दिया था। घर वालों के ‘हां’ करने के बाद हम दोनों में शादी की थी। आज श्रुति और मैं एक ही कंपनी में जॉब करते हैं। कंपनी में सीनियर ऑफिसर का पद होने की वजह से मेरा काफी बाहर आना जाना लगा रहता है। 

इन्हें भी पढ़ें – जिंदगी गुजर गई यादों के सहारे – Sad True Heart Touching Love Story in Hindi

Girl Bewafa Love Story In Hindi – प्यार की दर्द भरी दास्तां

Prakash Bansrota

We will provide you with interesting content, which you will like very much. On this website, you will find the world and national news, loans, insurance, mortgage, beauty tips, health, Bollywood, entertainment, technology, and education-related content.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button